पटवारी ने 10 हजार की मांगी थी रिश्वत, विजिलेंस ने रगें हाथो पकड़ा, जाने पूरा मामला

रिश्वतखोरी का एक और मामला सामने आया है। फतेहाबाद में विजिलेंस की टीम ने एक पटवारी सुभाष को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी पटवारी ने जमीन की गिरदावरी के लिए किसान से 10 हजार की रिश्वत मांगी थी। 

जानकारी के मुताबिक फतेहाबाद में पटवारी ने किसान से जमीन की गिरदावरी के लिए 10 हजार की मांग की थी जिसके बाद किसान ने इसकी शिकायत विजिलेंस को दी थी।

विजिलेंस को दी शिकायत में सुरेन्द्र ने कहा कि उसके माता-पिता का निधन हो चुका है और उनकी गांव में जमीन है। इस जमीन को अपने नाम करवाने के लिए वह पटवारी सुभाष निवासी ढिंगसरा से मिला तो पटवारी ने इस काम के लिए उससे 10 हजार रुपये रिश्वत की मांग की।

बाद में 8 हजार रुपये में मामला तय हो गया। उसने 5 हजार रुपये पहले ही पटवारी को दे दिए थे जबकि बकाया 3 हजार रुपये आज देने हैं। इस पर उसने इस बारे विजिलेंस को शिकायत कर दी। 

शिकायत के बाद विजिलेंस ने इस सम्बंध में उपायुक्त से ड्यूटी मेजिस्ट्रेट नियुक्त करने का आग्रह किया जिस पर उपायुक्त ने पब्लिक हेल्थ के कार्यकारी अभियंता को ड्यूटी मेजिस्ट्रेट नियुक्त कर दिया। 

योजना के मुताबिक सुरेन्द्र ने ढिंगसरा में जैसे ही पटवारी सुभाष को 3 हजार रुपये पकड़ाए, विजिलेंस टीम ने छापेमारी कर उसे रंगे हाथों काबू कर लिया।