कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए जारी हिदायतों की पालना सुनिश्चित की जाएं : एडीसी

फतेहाबाद, 23 अप्रैल।

अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. मुनीष नागपाल ने शुक्रवार को एनआईसी के वीडियो कॉन्फ्रेंस रूम में अधिकारियों की एक बैठक की अध्यक्षता की और कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए जारी हिदायतों की पालना सुनिश्चित करवाने के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए। एडीसी ने कहा कि जिला स्तर पर लघु सचिवालय में कंट्रोल रूम बनाया गया है, जिसके लिए जिप सीईओ अजय चोपड़ा को नोडल अधिकारी बनाया गया है। कंट्रोल रूम (01667-230018) में विभिन्न विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटियां भी लगा दी गई है।

उन्होंने संबंधित एसडीएम को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने उपमंडल में भी कंट्रोल रूम स्थापित करें। इसके अलावा संबंधित एसएमओ से भी समय-समय पर बैठकें करते रहें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि कोविड वैक्सीन व टेस्टिंग के लिए नागरिकों को जागरूक करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों का टीकाकरण किया जा सके और कोरोना महामारी से बचाव हो सके। एडीसी ने कहा कि जिला में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। जरूरत के अनुसार जिला हिसार के वेयरहाउस से ऑक्सीजन मंगवाई जा रही है। इसके अलावा जिला में ऑक्सीजन की पूर्ति सुचारू रूप से चलती रहे, इसके लिए जिला आयुष अधिकारी डॉ. धर्मपाल पूनियां व जिला उद्योग केंद्र के उप निदेशक जेसी लांग्यान को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

एडीसी डॉ. नागपाल ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए हरियाणा के मुख्य सचिव के आदेशों की पालना में शुक्रवार से जिला में प्रतिदिन दुकानें केवल 6 बजे तक ही खुली रखी जा सकती है। 6 बजे बाद दुकानें खोलने वाले दुकानदारों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया कि रेस्टोरेंट भी बंद रहेंगे। केवल होम डिलीवरी ही मान्य होगी। उन्होंने कहा कि दवाईयों और किरयाणा की दुकान खुली रहेगी, उन्हें कोविड-19 संक्रमण के फैलाव को रोकने की गाइडलाइन की पालना करनी होगी। मास्क न पहनने वाले नागरिकों के खिलाफ अधिकारी ज्यादा से ज्यादा चालान करें और उन्हें इस महामारी से बचाव के लिए जागरूक करें। गैर जरूरी कार्यक्रम करने पर सख्त मनाही है। किसी भी जरूरी कार्यक्रम के लिए प्रशासन एवं संबंधित एसडीएम से अनुमति लेनी होगी। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि कहीं भी भीड़ जमा न हो और जारी हिदायतों की पालना सख्ती से सुनिश्चित की जाएं।  

बैठक में आरटीए सचिव शालिनी चेतल, जिप सीईओ अजय चोपड़ा, जीएम रोडवेज कृष्ण कुमार, एसडीएम भारत भूषण कौशिक, गौरव अंतिल, सीएमओ डॉ. गोबिंद गुप्ता, तहसीलदार रणविजय सिंह, डिप्टी सीएमओ डॉ. सुनीता सोखी आदि मौजूद रहे।