हिसार के गांव पातन में भूमि विवाद में रोकने गई पुलिस टीम पर हमला, वाहन फूंके

हिसार के गांव पातन में देर शाम दो पक्षों के बीच प्लॉट को लेकर हो रहे झगड़े को रोकने के लिए पहुंची पुलिस पर एक पक्ष ने हमला कर दिया। इस दौरान पुलिस पर पथराव किया गया और पुलिस की गाड़ियों को पलट दिया गया। जिसके बाद पुलिस ने हलका बल प्रयोग किया और सूचना मिलते ही डीआईजी, डीएसपी, सीआईए, स्पेशल स्टाफ सहित संबंधित थाना व चौकी पुलिस मौके पर पहुंची। देर रात करीब 12 बजे तक पूरा गांव छावनी में तबदील रहा।

दरअसल शनिवार सुबह करीब सात बजे पातन गांव निवासी संजय अपने परिवार सहित घर पर था। उस दौरान हरियाणा पुलिस में तैनात सुभाष, गांव गंगवा निवासी हलका बरवाला से कांग्रेस प्रत्याशी भूपेंद्र, फायर ब्रिगेड कर्मी सीताराम व मिश्रीलाल व छह-सात महिलाएं संजय के घर पहुंचे और उन पर हमला कर दिया। मामले में संजय का कहना है कि वह करीब दो वर्ष की उम्र से अपने नाना के मकान में गांव पातन में रह रहा है, लेकिन आरोपी इस मकान पर अपना हक जता रहे हैं। इसी वजह से उस पर व उसके परिवार पर हमला किया गया।

उसके बाद शाम करीब आठ बजे करीब 35 लोग हाथों में हथियार लेकर संजय के मकान पर कब्जा करने पहुंचे। उस दौरान जब वह सामान बाहर फेंक रहे थे तो गांव के अन्य लोगों ने ऐसा करने से मना किया। बताया जा रहा है कि आरोपियों ने इन गांववासियों से मारपीट शुरू कर दी और इस झगड़े में शरारती तत्वों ने एक बाइक, एक ट्रैक्टर व एक बोलेरो कार को आग लगा दी और पुलिस पीसीआर को भी पलट दिया व क्षतिग्रस्त कर दिया।

सूचना मिलते ही मौके पर डीआईजी बलवान सिंह राणा, डीएसपी नारायणचंद, डीएसपी जोगिंद्र शर्मा, डीएसपी राजबीर सैनी, स्पेशल स्टाफ, सीआईए सहित संबंधित थाना व चौकी पुलिस मौके पर पहुंची। खबर लिखे जाने तक पुलिस आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज करने में लगी थी।