डॉक्टर्स की कमी से गहरा हुआ कोरोना संकट : कुमारी सैलजा

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने ली जिला कोविड सहायता कमेटी की वार्चुअल बैठक

महामारी में जिला कमेटी के सेवाभाव को सराहा, ब्लॉक स्तर पर भी कमेटी बनाने के दिए निर्देश

फतेहाबाद : कांग्रेस प्रदेशध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा कि कोरोना  की  लहर में भी डॉक्टर सबसे बड़े योद्धा बनकर लोगों की ज़िन्दगी बचाने में अपनी जान दाँव पर लगा रहे है।  यदि भाजपा सरकार ने इन चिकित्स्कों के महत्व को समझते हुए प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर के रिक्त पदों को भरा होता तो महामारी का यह संकट इतना गंभीर न दिखता।

जिला फतेहाबाद की तरह प्रदेशभर के सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर्स की कमी ने इस महामारी को विकराल रूप लेने का अवसर दे दिया है, जिसके लिए सीधे तोर पर भाजपा सरकार ज़िम्मेदार है। वे कोरोना महामारी से बचाव हेतु गठित की गई जिला कांग्रेस कोविड सहायता कमेटी पदाधिकारियों की वार्चुअल समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रही थी।

बैठक में जिला कोर्डिनेटर अरविन्द शर्मा, पूर्व विधायक बलवान दौलतपुरिया,  राष्ट्रीय सचिव विनीत पुनिया, एडवोकेट गुलबाहर सिंह, प्रदेश प्रवक्ता अमरदीप सिंह बराड, रमन खोखर, मंगतराम लालवास, सीताराम बैनीवाल, विनय शर्मा आदि मुख्य पदाधिकारियों ने भाग लिया।

इस दौरान कुमारी सैलजा ने जिला फतेहाबाद में कांग्रेस कमेटी के कोविड जनसहायता प्रयासों की सराहना करते हुए ब्लॉक स्तर पर भी इस तरह की कमेंटिया गठित करने के निर्देश दिए। जिला पदाधिकारियों ने अस्पतालो में डॉक्टर्स की कमी के आलावा इलाज में अन्य कई प्रकार की खामियों से अवगत करवाते हुए सरकार पर इनके निदान का दबाव बनाने पर जोर दिया।

कुमारी सैलजा ने कहा कि भाजपा सरकार इस महामारी के फैलने का अंदेशा होने के बावजूद पश्चिम बंगाल में अपना राजनीतिक हित साधने में जुटी रही जिसका खामियाजा देश की जनता को महामारी की दूसरी लहर में हज़ारो जाने गवा के भुगतना पड़ा।

सरकार की नाकामियों पर समय बर्बाद किए बिना कांग्रेस का हर कार्यकर्त्ता लोगों की मदद को आगे आये ताकि इस महामारी में अधिक से अधिक लोगों की जान बचाई जा सके। इस बैठक में भीम नारंग, विनोद सिंगला, नरेंद्र मघर, पूनम चंद रत्ती, शम्मी रत्ती, कुलदीप बैजलपुर, अंकित भूना, वीरेंद्र लालवास भी मुख्य रूप से उपस्थित रहे।