नगरपालिका द्वारा न्यू टाउन रतिया के मध्य में गौशाला बनाने का निर्णय सरासर गलत ~ राजविंदर चहल

रतिया। सहनाल रोड़ पर स्थित न्यू टाउन कालोनी वासियों की एक बैठक गत सांय कालोनी के बड़ा पार्क में संपन्न हुई। जिसमें न्यू टाउन की रेजिडेंट वेलफेयर सोसाइटी एसोसिएशन के प्रधान राजविंदर सिंह चहल ने बोलते  हुए कहा कि कि 200 रिहायशी प्लाटों की इस सुन्दर कालोनी में इस समय लगभग 100 परिवार निवास कर रहे हैं। 

उन्होंने बताया कि इस कालोनी के मध्य में तीन साइड की कोठियों के समीप नगरपालिका की तीन एकड़ जमीन लगती है। जिसमें नगरपालिका ने गोवर्धन नामक गोशाला का निर्माण करने का निर्णय लिया है  जो कि कालोनी वासियों के रहन-सहन के लिए बहुत दुर्भाग्यपूर्ण फैसला है। 

यदि इस कॉलोनी के मध्य में यह गोशाला बन जाती है तो जहाँ साफ-सफाई  व्यवस्था चरमरा जायेगी वहीं कालोनी में अव्यवस्था बिगड़ने के साथ-साथ बच्चों के आने-जाने, खेलकूद करने तथा बुजुर्गों के सैर आदि करने में भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। 

मुख्य सचिव कंवलजीत सिंह ने इस फैसले का सख्त विरोध करते हुए इसे गैर-जिम्मेदाराना  फैसला बताते हुए कहा कि गौशाला का निर्माण किसी खुले स्थान पर आबादी से दूर करना चाहिए। इस कालोनी में तो गौशाला की बजाए  योगशाला या हर्बल पार्क आदि का निर्माण करना चाहिए। 

डॉ: आर. के. सिंह ने नगर पार्षदों को मशविरा देते हुए आग्रह किया कि सहनाल रोड़ पर ही स्थित नंदीशाला के साथ लगती नगरपालिका की जो दो एकड़ जमीन खाली पड़ी है उस पर गौशाला का निर्माण किया जा सकता है। इस अवसर पर कोषाध्यक्ष गुरजोत चहल, सुरेश जिंदल, सुभाष चुघ, शिव वधवा, एडवोकेट राज कुमार गर्ग, प्रिंस गर्ग सुरेश मुंजाल, स्वर्ण सिंह, हरबंत सिंह, अनील चुघ, सुनील कुमार, पवन कुमार, भगवान दास, मछेंद्र पाल आदि सदस्य भी मौजूद थे।