डीएसआर मशीन से धान की सीधी बिजाई करें किसान : उपायुक्त

फतेहाबाद, 2 जून।

डीएसआर मशीन से धान की सीधी बिजाई करने पर 15 से 20 प्रतिशत तक पानी की बचत होती है। इसके साथ-साथ खरपतवारों की समस्या तथा जड़े गहरी जाने के कारण लोह तत्व की समस्या बहुत कम होती है।

इस बारे जानकारी देते हुए उपायुक्त डॉ. नरहरि सिंह बांगड़ ने बताया कि धान बिजाई का समय आ रहा है। जून का पहला सप्ताह सीधी बिजाई के लिए उपयुक्त है। पहला पानी बिजाई के लगभग 21 दिन बाद लगाया जाता है। इस विधि से बिजाई करने में 15 से 20 प्रतिशत तक पानी की बचत होती है तथा खरपतवारों की समस्या कम व जड़े गहरी जाने के कारण लोह तत्व की समस्या बहुत कम होती है। 

उपायुक्त डॉ. बांगड़ ने यह भी बताया कि किसान पारंपरिक विधि से धान की पौध तैयार करके आगामी 15 जून से धान की रोपाई कर सकते हैं। इस विधि में पानी के साथ-साथ लेबर व समय भी बहुत ज्यादा लगता है, जिससे खर्च में वृद्धि होती है। इस खर्च को कम करने के लिए किसान धान की सीधी बिजाई डीएसआर मशीन से कर सकते हैं। उपायुक्त ने जिला के किसानों से आग्रह किया है कि वे ज्यादा से ज्यादा डीएसआर मशीन द्वारा ही धान की सीधी बिजाई करें।