परीक्षा को नकल रहित व पारदर्शी करवाने बारे दिए आवश्यक दिशा निर्देश

 हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (एचएसएससी) की पुलिस में सिपाही पद के लिए लिखित परीक्षा 7 व 8 अगस्त में आयोजित की जाएगी। इस परीक्षा की तैयारी के लिए उपायुक्त महावीर कौशिक व हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के सदस्य सचिन जैन ने लघु सचिवालय के सभागार में अधिकारियों की बैठक लेकर परीक्षा को नकल रहित करवाने के निर्देश दिए। उपायुक्त ने बताया कि जिला में 40 परीक्षा केंद्रों पर दो दिन यानी 7 व 8 अगस्त को प्रातकालीन व सायंकाली सत्र में यह परीक्षा आयोजित की जाएगी। इस परीक्षा में 40 हजार परीक्षार्थी बैठेंगे। इस परीक्षा के लिए जिला स्तर पर एसडीएम कुलभूषण बंसल को नोडल अधिकारी लगाया गया है।

उपायुक्त महावीर कौशिक ने जिला शिक्षा अधिकारी से कहा है कि वह परीक्षा के दौरान विशेष ध्यान रखें, सभी परीक्षा केन्द्रों पर बैठने की व्यापक व्यवस्था हो, सभी परीक्षा केन्द्रों को सैनिटाइज किया जाए, शौचालय की व्यवस्था हो, पीने के पानी का उचित प्रबंध हो। उन्होंने कहा कि परीक्षा आयोजित होने से पहले ही सभी परीक्षा केन्द्रों का भ्रमण करें ताकि कमी का पता चल सके। उपायुक्त ने कहा कि सभी परीक्षा केंद्रों पर ड्यूटी मैजिस्ट्रेट और उडऩदस्तें तैनात किए जाएंगे।

महावीर कौशिक ने बताया कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा परीक्षा केन्द्रों पर जैमर लगाए जाएंगे। उन्होंने पुलिस विभाग से कहा कि जिस भी व्यक्ति, अधिकारी व कर्मचारी की परीक्षा में ड्यूटी है उसकी सूची पहले ही जारी की जाए ताकि पुलिस द्वारा हर व्यक्ति व ड्यूटी दे रहे कर्मचारी व अधिकारियों पर नजर रखी जा सके। परीक्षा के दौरान किसी को भी बाहर जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। पुलिस कर्मी भी परीक्षा केंद्र के अंदर दाखिल नहीं हो सकेंगे। इसके अलावा अधिकारियों के साथ तैनात गनमैन भी परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं कर पाएंगे।

 हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के सदस्य सचिन जैन ने बताया कि परीक्षा को पारदर्शी बनाने के लिए आयोग की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। आयोग के दिशा निर्देशानुसार ही परीक्षा केंद्रों पर जिला शिक्षा अधिकारी कर्मचारियों की ड्यूटी लगाएं। आयोग के पहचान पत्र को ड्यूटी पर तैनात कर्मी को पहनना होगा। उन्होंने कहा कि परीक्षार्थी को परीक्षा केंद्र में प्रवेश से पहले पूरी जांच प्रक्रिया से गुजरना है। परीक्षार्थी की आंखों व चेहरे का स्कैनिंग किया जाएगा। प्रवेश पत्र के बार कोड को स्कैन करने के बाद ही परीक्षार्थी को परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया जाए। बैठक में एसडीएम कुलभूषण बंसल, सीटीएम अंकिता वर्मा, डीएसपी दलजीत बैनीवाल, डीईओ दयानंद सिहाग आदि मौजूद रहे।