मेरा राशन मोबाइल एप को बढ़ावा देने के लिए आवश्यक कदम उठाएं संबंधित विभाग

उपायुक्त महावीर कौशिक ने खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे मेरा राशन मोबाइल एप को एसएमएस के माध्यम से बढ़ावा देने के संबंध में सभी आवश्यक कदम उठाएं। इस एप की जागरूकता के लिए जिला में पोस्टर, बैनर, होर्डिग आदि के माध्यम से नागरिकों को जागरूक किया जाए। राशन डिपूओं और अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर इनका प्रदर्शन किया जाए।

उपायुक्त ने बताया कि उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा राशन कार्ड धारकों की मदद के लिए मेरा राशन मोबाइल एप लांच किया है जोकि भारत सरकार द्वारा शुरू की गई वन नेशन-वन राशन कार्ड योजना के तहत शामिल है। कोई भी राशन कार्ड धारक उपभोक्ता इस एप को अपने एंड्रॉइड स्मार्टफोन के गूगल प्ले स्टोर में डाउनलोड कर सकता है। उन्होंने बताया कि इस एप के माध्यम से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के लाभार्थी स्वयं यह चेक कर सकेंगे कि उनको कितना अनाज मिलेगा। इसके अतिरिक्त इस एप के माध्यम से जरूरतमंद यानी गरीब परिवार के लोगों को आसपास के राशन डिपो की लोकेशन, साथ ही राशन कार्ड पर मिलने वाली सुविधाओं की पूरी जानकारी मिलेगी।

इस मौके पर जिला खाद्य आपूर्ति नियंकत्र विनीत गर्ग ने बताया कि जिला में राशन कार्डधारक अगर अपने निवास स्थान बदलकर देश के किसी दूसरी जगह पर चले जाते हैं, वहां पर भी वे अपने मोबाइल पर देख सकते हैं कि नजदीक में राशन डिपो कहां पर है और वहां पर कौन-कौन सी सुविधाएं उनके लिए उपलब्ध है। 

इस एप का फायदा खासतौर पर प्रवासी लोग उठा सकेंगे, क्योंकि वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के तहत राशन कार्ड धारक देश में कहीं भी और किसी भी राशन की दुकान से अपने हिस्से का राशन प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि जिला के सभी राशन डिपूओं तथा सार्वजनिक स्थानों पर उपभोक्ताओं को जागरूक करने के लिए पोस्टर, बैनर इत्यादि लगाए गए है और यह प्रक्रिया भविष्य में भी जारी रहेगी, ताकि उपभोक्ता इनकी जानकारी प्राप्त कर योजनाओं का लाभ उठा सके।