कोरोना के संक्रमण को रोकने और शारीरिक क्षमता बढ़ाने में आयुर्वेद लाभदायक

फतेहाबाद, 30 अगस्त।

कोरोना के संक्रमण को रोकने और शारीरिक क्षमता तथा दक्षता बढ़ाने में आयुर्वेद बहुत ही लाभदायक हैं। आयुर्वेद में सम्माहित औषधियां कोरोना के साथ-साथ अन्य बीमारियों के खिलाफ लडऩे में भी मदद करती हैं तथा शारीरिक ताकत को बढ़ाने का काम करती है।

उपायुक्त महावीर कौशिक ने बताया कि आयुर्वेदिक पद्घति बहुत ही सारगर्भित मानी जाती है। शुरू से ही आयुष विभाग लोगों को जागरूक करने का काम कर रहा हैं। कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने और शारीरिक क्षमता और दक्षता बढ़ाने में आयुर्वेदिक पद्घति बहुत ही फायदेमंद है। 

उन्होंने बताया कि शारीरिक क्षमता बढ़ाने में आयुर्वेद पद्घति का महत्व और बढ़ा है। हमें पद्घति को अंगीकृत करते हुए इसका लाभ उठाने की जरूरत है। कोरोना काल के दौरान काफी संख्या में लोगों ने आयुर्वेदिक दवाओं को उपयोग और सदुपयोग करके अपनी शारीरिक क्षमता और दक्षता बढ़ाने का काम किया है।

उन्होंने यह भी बताया कि आयुर्वेदिक पद्घति हमारी रोग प्रतिरोधात्मक ताकत को बढ़ाती है। कोरोना काल के दौरान काफी लोगों ने आयुर्वेदिक पद्घति तथा औषधियों को अपनाकर अपने आप को सुरक्षित रखा है। होम एकांतवास के दौरान कोरोना मरीज आयुर्वेदिक औषधियों के साथ-साथ प्राणायाम भी करते रहें और योग का सहारा लेकर भी उन्होंने स्वयं को स्वस्थ रखा। 

आयुर्वेद में सम्माहित ऋषि-मुनियों की सीख हमें निरंतरता में स्वस्थ रहने की प्रेरणा देती है। लोगों को आयुर्वेद के प्रति जागरूक करने के लिए प्रचार अभियान भी समय-समय पर चलाया जाता है।