विधवा महिलाओं को स्वरोजगार के लिए मिलेगा तीन लाख रुपये तक का ऋण

फतेहाबाद, 29 अगस्त।

हरियाणा महिला विकास निगम की ओर से प्रदेश की विधवा महिलाओं को स्वयं का रोजगार शुरू करने के लिए बैंक के माध्यम से तीन लाख रुपये तक का ऋण उपलब्ध करवाया जाता है। सरकारी प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि विधवा महिलाओं को बैंकों के माध्यम से 3 लाख रुपये तक के बैंक ऋण के ऊपर ब्याज की प्रतिपूर्ति हरियाणा महिला विकास निगम द्वारा अनुदान के रूप में अदा की जाएगी। उन्होंने बताया कि इसकी अधिकतम सीमा 50 हजार रुपये व लोन की अवधि 3 वर्ष जो भी पहले होगी ब्याज सब्सिडी दी जाती है। इस राशि से विधवा महिला अपना खुद का गुजारा कर सकती हैं।

प्रवक्ता ने बताया है कि महिला की वार्षिक आय तीन लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। इसके लिए महिला को मसाला यूनिट, रेडीमेड गारमेंट्स, ब्यूटी पार्लर व ऑटो रिक्शा, परचून की दुकान, कॉस्मेटिक दुकान, बुटीक, स्कूल यूनिफॉर्म, बैग तथा अचार बनाना इत्यादि का प्रशिक्षण लिया होना चाहिए। आवेदन करने के लिए लघु सचिवालय के द्वितीय तल पर स्थित महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यालय से संपर्क कर जानकारी प्राप्त की जा सकती है।