जल व पर्यावरण संरक्षण का संदेश देते हुए त्रिवेणी लगाकर पौधारोपण कार्यक्रम का किया शुभारंभ

फतेहाबाद, 11 अगस्त।

उपायुक्त महावीर कौशिक ने बुधवार को गांव बड़ोपल, कुम्हारिया, गोरखपुर में वन्य प्राणियों के संरक्षित क्षेत्र का दौरा किया और अखिल भारतीय जीव रक्षा बिश्नोई सभा द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस मौके पर उपायुक्त ने पौधारोपण कार्यक्रम में त्रिवेणी लगाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने ग्रामीणों को जल व पर्यावरण संरक्षण का संदेश देते हुए ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाने और जल बचाने की अपील की।

उपायुक्त महावीर कौशिक ने कहा कि हर व्यक्ति मानव जाति की तरह ही वन्य प्राणियों का भी जीवन बचाने, उनकी सुरक्षा व संरक्षण के लिए अपने कर्तव्यों का पालन करें। आज के समय में पक्षियों व वन्य प्राणियों के प्राकृतिक पर्यावास क्षेत्र सिकुड़ते जा रहे हैं, जिसके कारण दुर्लभ वन्यजीवों की संख्या घटती व सिमटती जा रही है। इसलिए बचे हुए कुदरती वन्य जीव आवासों का सरंक्षण आवश्यक हो गया। 

उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति मानव जाति की तरह ही वन्य प्राणियों का भी जीवन बचाने, उनकी सुरक्षा व संरक्षण के लिए अपने कर्तव्यों का पालन करें। यह सभी के लिए सवैधानिक अधिकार भी है तथा पुण्य का कार्य भी है। उपायुक्त कौशिक ने ग्रामीणों से काले हिरण व अन्य वन्य प्राणियों की कम होती संख्या के कारणों के बारे में बिंदुवार चर्चा की। उपायुक्त ने ग्रामीणों से भी आह्वान किया कि वे वन्य प्राणियों के संरक्षण में अपनी अह्म भूमिका अदा करें।

इस अवसर पर अखिल भारतीय जीव रक्षा बिश्रोई सभा के प्रदेश अध्यक्ष विनोद कड़वासरा, मार्गदर्शक आत्मा राम मांझू, महासचिव विनोद काकड़, कोषाध्यक्ष नरसी काकड़, प्रदेश उपाध्यक्ष राधेश्याम धारणिया, जिला प्रधान अनिल सिहाग, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सतपाल भादू, राजाराम पुनिया, सीएम विंडो एमिनेंट सिटीजन लख्मी शर्मा, चंद्रमोहन सीगड़, राजेश भादू, महावीर भादू, विपिन पुनिया, अनिल भादू धांगड़ आदि ने उपायुक्त को वन्यजीवों के लिए आ रही समस्याओं के बारे में अवगत कराया तथा एक मांग पत्र भी सौंपा। इस मौके पर उपायुक्त ने ग्रामीणों की समस्याओं को ध्यानपूर्वक सुना और यथसंभव प्रयास का आश्वासन दिया।