कपास फसल में लगने वाले कीट व बीमारियों की रोकथाम बारे दी जानकारी

फतेहाबाद, 3 सितंबर।

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार के तत्वावधान में स्थानीय कृषि विज्ञान केंद्र में इंटीग्रेटिड पोस्ट मैनेजमेंट इन कॉटन विषय को लेकर एक दिवसीय एक्सटेंशन पर्सनल ट्रेनिंग का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जेडीए डॉ आरपी सिहाग ने कहा कि यह ट्रेनिंग सभी कर्मचारियों के लिए बहुत ही उपयोगी व सहायक सिद्ध होगी। इस ट्रेनिंग से लाभांवित होकर सभी कर्मचारी किसानों को कपास फसल में लगने वाले कीट एवं बीमारियों की रोकथाम के लिए सही जानकारी दे सकेंगे। ट्रेनिंग में कृषि विभाग से संबंधित लगभग 70 अधिकारियों/कर्मचारियों ने भाग लिया।


उन्होंने बताया कि इस वर्ष कपास फसल अब तक सही खड़ी है और आप सभी कपास फसल का लगातार निरीक्षण करते रहे और बीमारी व कीट प्रकोप होने पर किसान सिफारिश अनुसार दवाई का छिडक़ाव करें। एक दिवसीय एक्सटेंशन पर्सनल ट्रेनिंग में डॉ करमल मलिक ने कपास फसल की सस्य क्रियाओं तथा डॉ. मनमोहन ने कपास फसल में लगने वाली बीमारियों की रोकथाम के बारे में विस्तृत जानकारी दी। इसके साथ-साथ डॉ. संतोष ने मृदा स्वास्थ्य, डॉ. अनिल जाखड़ ने कपास फसल में लगने वाले कीटों के बारे में ऑनलाइन जानकारी दी।

ट्रेनिंग कार्यक्रम में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक डॉ. राजेश सिहाग ने कृषि विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न स्कीमों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने किसानों से आह्वान करते हुए कहा कि सभी किसान किसी भी प्रकार का कृषि अनुदान लेने के लिए कृषि विभाग के पोर्टल पर निर्धारित समयावधि तक आवेदन करें। इस मौके पर उपमंडल कृषि अधिकारी डॉ. भीम सिंह कुलडिय़ा, डॉ. मुकेश महला सहित विभाग के अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।