मनोहर लाल के खिलाफ कोर्ट पहुंचा वकील: SC और HC में मेल भेजकर मुख्यमंत्री के भाषण को बताया भड़काऊ और असंवैधानिक

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के बयान से खफा एक वकील उनके खिलाफ कोर्ट पहुंच गया। वकील ने सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट में ईमेल भेजकर बताया कि मुख्यमंत्री का भाषण भड़काऊ, असंवैधानिक और अवैध है। इसीलिए उनके खिलाफ केस दर्ज करके जांच की जाए। साथ ही DGP से भी केस दर्ज करने की मांग की है।


चंडीगढ़ में वकालत करने वाले अधिवक्ता संदीप कुमार गोयत ने बताया कि 3 अक्टूबर 2021 को CM मनोहर लाल ने अपने आवास पर एक बैठक के दौरान बयान दिया था। जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें उन्होंने कहा था कि विशेष रूप से उत्तरी हरियाणा और पश्चिमी हरियाणा के क्षेत्र में 500 से 1000 लोगों का समूह बनाना चाहिए और डंडे के इस्तेमाल से आंदोलनकारियों को जैसे का तैसा जवाब देना चाहिए। 

इस तरह के बयान राज्य की शांति और सद्भाव के लिए और किसानों के शांतिपूर्ण विरोध के लिए बेहद खतरनाक है। इसमें भाजपा के कैडर के लिए अप्रत्यक्ष रूप से यह कहकर उकसाने की ताकत है कि किसानों के खिलाफ हिंसा का इस्तेमाल करें।