5 साल की बच्ची से हुए अप्राकृतिक यौन शोषण मामले में 6 माह में आया कोर्ट का फैसला

5 साल की बच्ची से हुए अप्राकृतिक यौन शोषण मामले में 6 माह में आया कोर्ट का फैसला, दोषी को 20 साल की कैद 13000 रुपये जुर्माना।

फतेहाबाद। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश व फास्ट ट्रैक कोर्ट के जज बलवंत सिंह की अदालत ने पोक्सो एक्ट के मामले की सुनवाई करते हुए आरोपी को दोषी करार देते हुए उसे 20 साल की कैद व 13 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई।

जानकारी के अनुसार, रतिया क्षेत्र के एक गांव निवासी पीडि़ता की माता ने सदर रतिया थाना में 16 जुलाई 2021 को शिकायत दर्ज करवाई थी कि उसकी 5 साल की बेटी उसके देवर के घर खेल रही थी। उसको दोषी गुरजीत उर्फ मनी उसे घर के कमरे में ले गया और उसके साथ अशलील हरकत की व उसके अननेचुरल सेक्स किया।

इस पर रतिया सदर पुलिस ने दोषी के खिलाफ आईपीसी की धारा 354ए, 376, 450, पोक्सो एक्ट की धारा 6 के तहत मामला दर्ज किया था। अदालत ने मामले की सुनवाई करते हुए दोषी गुरजीत उर्फ मनी को 20 साल की कैद व 13 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। उल्लेखनीय है कि फास्ट टैक् कोर्ट ने इस मामले में 6 माह के भीतर ही सुनवाई करके दोषी को सजा सुनाई है।