भट्टू में एक परिवार के लिए वरदान बनी डायल 112, घर से लापता तीन बच्चों को परिजनों तक सकुशल पहुंचाया

फतेहाबाद, 3 मार्च। अपराधियों की धरपकड़ के साथ-साथ डायल 112 सेवा जरूरतमंदों के लिए भी किसी वरदान से कम साबित नहीं हो रही। मुसीबत के समय लोगों की सहायता को तत्पर रहने वाली इस सेवा ने भट्टूकलां में घर से लापता हुए तीन मासूम को उनके परिजनों तक सकुशल पहुंचाकर परिवार की खुशियां लौटाई है। 

इस पर बच्चों के परिजनों ने फतेहाबाद पुलिस का आभार जताया है। भट्टू मण्डी स्थित माचरा मण्डी निवासी एक व्यक्ति के तीन बच्चे 4 वर्षीय अभिषेक, 3 वर्षीय आशीष व 2 वर्षीय लड़की चांदनी है। बच्चों के माता-पिता गत दिवस काम के लिए गया थे तो उसी दौरान उसके तीनों बच्चे खेलते-खेलते घर से दूर चले गए। उन्होंने जब बच्चों के घर से लापता होने की सूचना मिली तो परिजनों ने तीनों बच्चों की तलाश शुरू कर दी। 

तीनों बच्चे चलते-चलते भट्टू में कैंची चौक पर पहुंच गए। यहां किसी व्यक्ति ने बच्चों को अकेले देखा तो इस बारे डायल 112 पर सूचना दी। पंचकूला हैडक्वार्टर से इस बारे जिला मुख्यालय को सूचना भेजी गई। इस पर डीओ डीसीआर एचसी अनिल कुमार के सहयोग से डायल 112 की ईवीआर 214 गाड़ी पर तैनात इंचार्ज राममूर्ति व चालक शिव शंकर को तुरंत उस जगह पर पहुंचे। 

पुलिस ने तीनों बच्चों को पहले कुछ खाना खिलाया और पूछताछ की लेकिन बच्चे परिजनों बारे कुछ बताने में असमर्थ थे। इस पर पुलिस कर्मचारियों ने तीनों बच्चों को गाड़ी में बिठाया और आसपास पूछताछ की व गाड़ी के माध्यम से मुनियादी भी की। इसी दौरान बच्चों के परिजनों को सूचना मिली तो वे मौके पर पहुंचे। परिजनों से पूछताछ के बाद पुलिस टीम ने तीनों बच्चों को परिजनों को सौंप दिया। तीनों बच्चों को सकुशल देखकर परिजनों की खुशी की ठिकाना नहीं था और उन्होंने इसके लिए पुलिस कर्मचारियों का धन्यवाद किया।